取得联系
नींद: हमारी दैनिक दिनचर्या में नींद एक प्राकृतिक और आवश्यक भाग है, यह हमको उर्जा प्रदान करती है | नींद एक जटिल जैविक प्रक्रिया और अवस्था है जिसके दौरान मस्तिष्क की सक्रियता बदलती रहती है जो कि स्वस्थ जीवन जीने के लिए आव्यशक है। गहरी व सही मात्रा में ली गई नींद हमारे मन व शरीर को संपूर्ण विश्राम देती है जिससे हम को ताजगी मिलती है, हम ऊर्जावान तथा प्रसन्न हो जाते हैं और नई जानकारी रिफ्रेश करने में सहायता करती है |

नींद एक जटिल जैविक प्रक्रिया और अवस्था है जिसके दौरान मस्तिष्क की सक्रियता बदलती रहती है जो कि स्वस्थ जीवन जीने के लिए आव्यशक है। गहरी व सही मात्रा में ली गई नींद हमारे मन व शरीर को संपूर्ण विश्राम देती है जिससे हम को ताजगी मिलती है, हम ऊर्जावान तथा प्रसन्न हो जाते हैं और नई जानकारी रिफ्रेश करने में सहायता करती है |

नींदकेदौरानमस्तिष्क5विशिष्टस्तरमेंघूमताहैWakefulness,NREM阶段:N1、N2, N3快速眼动(舞台)

नींदकाहरस्तरमहत्वपूर्णहोताहै, जिसमें मन और शरीर को पूरी तरह आराम मिलता है |

कुछस्तरोमेंलोगआरामऔरऊर्जावानमहसूसकरतेहैंजबकिअन्यस्तरोमेंसीखनेवयादकरनेमेंमददमिलतीहै|अच्छीनींदकेदौरानशरीरमेंकुछहारमोंसबनतेहैजोपूरेजीवनमेंमांसपेशियोंकेनिर्माणमेंमददकरतेहैऔरशरीरकोनुकसानहोनेसेबचातेहै|नींदपढ़ने, सीखने और समझने में मदद करता है|

  • नींदकीकमी,सीखनेऔरसमझनेकीसमस्याओंकोबढ़ातीहैउससेलंबेसमयमेंहमारेस्वास्थ्यपरभीबुराप्रभावपड़ताहै|
  • नींदकीकमीदैनिक कार्यमूड और स्वास्थ्य को भी प्रभावित करती है|अगर 1.घंटे कम नींद लेते हैं तो अगले दिन ध्यान केंद्रित करने में दिक्कत होती है | आप का रिस्पांस टाइम बढ़ सकता है , यह आपके मूड को भी प्रभावित करती है|
  • कमनींदकेकारणचिड़चिड़ापनआसकताहै,खासकरबच्चोंऔरकिशोरोंकेलिएजोलोगनींदपर्याप्तनहींलेतेवहनिराशहोसकतेहैं|
  • अच्छीनींदकीकमीउच्च रक्तचाप हृदय रोग और अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ाता है

नींदकापैटर्नदोप्रक्रियाओंकेसाथमिलकरकामकरताहै– नींद की ड्राइव और साकेडियन घड़ी|

  • नींदकीजरूरत, आपके जागते समय की लंबाईसाकेडियनघड़ी)सेप्रेरितहोतीहै,जितनाज्यादाआपजागतेहैउतनाज्यादाआपकोनींदकीजरूरतहोतीहै|
  • नींदकीड्राइवआपके शरीर में तब तक बनी रहती है जब तक आप सो नहीं जाते

नींददोतरहकेहोतेहैं- - - - - -

  • नॉन रैपिड आई मूवमेंट(NREM)
  • रैपिडआईमूवमेंट(雷姆)और

नॉनरैपिडआईमूवमेंट(NREM)–इसमें दिमाग शांत रहता है, हमारा शरीर चल फिर सकता है|इसअवस्थामेंकुछहारमोंसबनतेहैं,जिससेहमाराशरीरदिनभरकीटूट- - - - - -फूट की मरम्मत करता है|इस अवस्था के भी 4 भाग होते हैं

  • पूर्वनींद(清醒)में मांसपेशियां ढीली हो जाती है, हृदय गति धीमी हो जाती है और शरीर का तापमान कम हो जाता है
  • हल्कीनींद(N1)इससमयतकआपकोबिनाकिसीपरेशानीकेआसानीसेजगायाजासकताहै
  • मंदतरंगनींद(N2)इस अवस्था में हमारे खून का प्रव|ह कम हो जाता है इसमें नींद में बोलने और चलने की क्रियाएं हो सकती है
  • अतिमंदतरंगनींद(N3)इस अवस्था में आपको जगाना बहुत कठिन होता है और इस समय आपको कोई जगा दे तो आपको बहुत अजीब सा महसूस करते हैं

रैपिडआईमूवमेंट(快速眼动)यह नींद की लगभग पांचवी अवस्था होती है जिसमें दिमाग बहुत सक्रिय होता है आंखें तेजी से हरकत करती रहती है और हम इस अवस्था में सपने देखते हैं हमारी मांसपेशियां बहुत ढीली रहती है|

स्लीप एपनिया (睡眠呼吸暂停):स्वास्थ संबंधी बीमारी में स्लीप एपनिया एक आम बीमारी है| यह कई प्रकार के होते हैं इसमें सबसे प्रमुख ओ एस ए (OSA)है | इससे ग्रसित लोग तेज खर्राटे लेते हैं और वायु के प्रभाव में अवरोध होता है | कई बार श्वास बंद हो जाती है | नींद के दौरान, अवरोध और सांस का बंद होना 100से ज्यादा भी हो सकता है} 10या इससे ज्यादा सेकंड की अवरोध को एक घटना माना जाता है, इसकी वजह से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम मिलती है और नींद बार-बार खुलती रहती है | मस्तिष्क इस घटनाक्रम को जीवन के लिए घातक समझता है शरीर को इससे लड़ने के लिए तैयार करता है |रात को शरीर में आराम मिलने के बजाय शरीर के सारे आंतरिक अंग ज्यादा काम करते हैं, जिससे शरीर में थकावट महसूस होती है |

इस बीमारी में रात में तेज खर्राटे आना, सांस का रुकना, दम घुटना, बार बार बाथरूम जाना इत्यादि शामिल है | ऐसे व्यक्ति दिन में अत्यधिक थकान महसूस करते हैं|सुबह उठते ही सिर दर्द होने लगता है|

इसकासहीउपचारनहींकरवानेपरकईघातकऔरजानलेवाबीमारियोंकीसंभावनाबढ़जातीहै- - - - - -जैसे हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, मधुमेह。मस्तिष्ककास्ट्रोक,स्मरणकाकमहोना,इत्यादिशामिलहै|

इसकेउपचारकेलिएनींदकेविश्लेषणकीजरूरतहोतीहैजोघरयाअस्पतालमेंकियाजासकताहैजांचकेसकारात्मकहोनेपरसीपाइपमशीनकाउपयोगकरनाहोताहै

स्लीपएपनिया (睡眠呼吸暂停):

स्लीपएपनियाएकसामान्यशारीरिकविकारहैजोसोतेवक्तसांसरुकनेऔरबार- - - - - -बार करवटें बदलने जैसी समस्याएं उत्पन्न कर देता है | आमतौर पर स्लीप एपनिया तब होता है जब सोते समय किसी व्यक्ति के सांस रुकने लगते हैं इसमें सांस कुछ सेकंड से कुछ मिनट तक भी रुक सकता है यह 1.घंटे में 30या उससे ज्यादा बार भी हो सकता है|

प्रतिरोधीस्लीपएपनिया (OSA-阻188足彩外围塞性睡眠呼吸暂停)

स्लीपएपनियाकासबसेआमप्रकारप्रतिरोधीस्लीपएपनियाहैजोनींदकेदौरानश्वांसमार्गर्बंदहोनेकेकारणहोताहै|इसमें सोने के कुछ समय बाद सामान्य सांसों में खराटे या घुटन जैसी आवाज आने लगती है|

प्रतिरोधी स्लीपएपनिया(OSA)केलक्षणहै :

  • जोर से खर्राटे लेना नींद के दौरान स्वास की समाप्ति
  • अचानकजागनासांसोंकीकमीसुबहउठनेपरमुंहसुखारहना
  • गले में खराश
  • सुबह सिर दर्द
  • अनिद्रा
  • हाइपरसोम्निया
  • याददाश्त की कमी
  • चिड़चिड़ापन

奥萨से पीड़ित लोग जोर- - - - - -जोर से खराटे मारते हैं लेकिन हर किसी को खराटे मारने की समस्या नहीं होती है |

यह संभव है, कि स्लीप एपनिया में कोई शारीरिक लक्षण किसी को नहीं दिखता है|

प्रतिरोधी स्लीपएपनिया(OSA)निम्नलिखितपरिस्थितियोंमेंसंभावनाबढ़जातीहै :

  • अधिक वजन
  • मोटा गर्दन
  • संकुचितवायुमार्ग
  • 45के बाद पुरुषों में संभावना बहुत अधिक हो जाती है
  • वंशानुगत
  • अल्कोहलकासेवन
  • धूम्रपान
  • नाक व ह्रदय विकार
  • मादक
  • दर्द दवाएं
  • आघात

प्रतिरोधी स्लीपएपनिया(OSA)कीसमस्याओंकाअगरउपचारनहींकियाजाताहैतोउसकेकारणनिम्नपरेशानियांसकतीहै

  • दिन में थकान
  • उच्च रक्तचाप
  • हार्ट अटैक
  • मधुमेह टाइप2
  • अपच की समस्या
  • जिगरकीसमस्याएं

सेंट्रलस्लीपएपनिया (CSA中枢性睡眠呼吸暂停):

सेंट्रल स्लीप एपनिया नींद का एक ऐसाविकार है जिसमें नींद के दौरान सांस 10सेकंड या उससे ज्यादा समय के लिए बंद हो जाती है | इसमें सोते समय, मस्तिष्क कुछ समय के लिए मांस पेशियों को सांस लेने के लिए आदेश नहीं देता है |सेंट्रलस्लीपएपनियावालेलोगोंकेवायुमार्गमेंरुकावटनहींहोतीहैबल्किमस्तिष्कऔरमांसपेशियोंकेबीचकानियंत्रणनहींहोपाताहैऔरसांसबंदहोजातीहै|

एक अनुमान के अनुसार सभी एपनिया के मामलों में सेंट्रल स्लीप एपनिया 20% तक होती है

मिक्स्डस्लीपएपनिया(MA -混合呼吸暂停)

एपनिया का एक ऐसा प्रकार है जिसमें ऑब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया और सेंट्रल स्लीप एपनिया दोनों के लक्षण मौजूद होते हैं

मोटापेकीवजहसेऑक्सीजनकीकमी(OHS-肥胖低通气综合征)

मोटापे की वजह से शरीर में ऑक्सीजन की कमी और कार्बन डाइऑक्साइड का बढ़ना इस बीमारी में देखा जाता है | अत्याधिक वजन के कारण व्यक्ति पर्याप्त मात्रा में सांस नहीं ले पाता और इसके परिणाम स्वरूप ऑक्सीजन की कमी हो जाती है|ऐसे ज्यादातर लोग मोटापे से पीड़ित होते हैं उनमे 奥萨के सारे लक्षण मौजूद होते हैं।

羟基इसकेप्रमुखलक्षणहै- - - - - -

  • हार्ट से संबंधित बीमारी
  • दिन में थकान
  • अनिद्रा
  • याददाश्त की कमी
  • चिड़चिड़ापन

ओवरलैपसिंड्रोम (重叠综合征)

सीओपीडी के साथ साथ कई तरह की अन्य दीर्घकालीन बीमारियां जुड़ जाती है जैसे:

  • अस्थमा慢性阻塞性肺病(治疗),
  • COPD-OSA (oco),
  • फाइवरोसिस-慢性阻塞性肺病(FCOS),
  • बोकाइटिस慢性阻塞性肺病(因为)

ओवरलैप सिंड्रोम जीवन के लिए अत्यधिक गंभीर होती है सही समय पर जांच कराना।

उपचार- - - - - -

इसमेंऑक्सीजनकंसंट्रेटरऔरबॉयलेवलकाइस्तेमालदवाओंकेसाथप्रमुखहै।

सीओ。पी。डी。(COPD-慢性阻塞性肺疾病):सी.ओ.पी.डी。फेफड़ेकीगंभीरबीमारीहै,इसमेंसांसकीनलीसिकुड़जातीहै,औरउसमेंसूजनआजातीहै|यहसूजननिरंतरबढ़तीजातीहै,सीओपीडीकोआमबोलचालकीभाषामेंक्रॉनिकब्रोंकाइटिसयाफेफड़ेकीबीमारीभीकहतेहैंयहएकजानलेवाबीमारीहै

इसकाप्रमुखकारणधूम्रपानहोताहै,धूम्रपानकेद्वाराविषाक्तपदार्थफेफड़ोंकीकोशिकाएंकोसहीतरीकेसेकामककामकरनेनहींदेताहैऔरब्लडमेंऑक्सीजनकीकमीहोजातीहै|शरीरमेंऑक्सीजनपहुंचानेवालेछोटेछोटेवायुतंत्रोंमेंगड़बड़ीआनेसेसांसलेनेमेंतकलीफहोनेलगताहैयाफेफड़ोंमेंसंक्रमणभीफैलाताहै|इसदौरानफेफड़ेमेंलगातारकार्बनडाइऑक्साइडकीमात्राबढ़जातीहैऔर उम्र के साथ यह बीमारी घातक होती जाती है

धूम्रपान इस बीमारी की प्रमुख वजह है लगातार होने वाली खांसी इसका प्रमुख लक्षण है सर्दियों में खांसी होना एक आम बात है लेकिन लंबे समय तक खांसी अगर आपका पीछा नहीं छोड़ती है तो आपको डॉक्टर से तुरंत सलाह लेना चाहिए |

सीओपीडी के प्राथमिक लक्षणों की पहचान करना बहुत आसान है अगर बलगम वाली खांसी लगातार 2.महीने से अधिक रहती है और मौसम बदलने पर भी पिछले 2.साल से ऐसा हो रहा है तो आपको सामान्य सिरप और दवाओं से आराम नहीं मिलता है | ज्यादातर मामलों में सीओपीडी के लक्षण 35साल के बाद ही पता चलता है,

सीओपीडी का सबसे बड़ा कारण धूम्रपान है लेकिन 20% रोगी ऐसे होते हैं जो धुएं और प्रदूषित वातावरण में रहने के कारण इस रोग से ग्रसित हो जाते हैं

सीओपीडीदोप्रकारकेहोतेहैं

  • एमफीसीमाऔर
  • क्रॉनिकब्रोंकाइटिस

सीओपीडीकेप्रमुखलक्षण

  • लंबे समय तक लगातार होने वाली खांसी
  • सर्दियों में खांसी होना और बलगम बनना
  • कार्य करते हुए सांस फूलना

सीओपीडीकीजांचऔरउपचार:

सीओपीडी की प्रारंभिक अवस्था में तभी पता चलता है जब इसकी जांच स्पाइरोमीटर से करते हैं | प्रारंभिक अवस्था में सीओपीडी का पता लगने पर इसका इलाज संभव है, लेकिन अगर बहुत बढ जाने के बाद इसका पता चलता है तो उस समय लाइलाज बीमारी हो जाती हैं |

इसेठीकनहींकियाजासकताबल्किइसेसिर्फकमकरसकतेहैं|

उपचार

बायपैपमशीनकाउपयोग, उपचार में किया जाता है इसके साथ- - - - - -साथऑक्सीजनकंसंट्रेटरका भी उपयोग होता है |

बा य पै पछोटीएकमशीनहैजोहवाकोदोअलगअलगप्रेशरकेमाध्यमसेमरीजकेसांसलेनेकीप्रक्रियाकोसरलऔरआसानबनातीहै|मशीन,हवाऔरऑक्सीजनकेमिश्रणकोमास्ककीमददसेअधिकप्रवाहसेसांसलेनेमेंमददकरतीहै|इसमाध्यमसेजरूरतकेअनुपातमेंहवाऔरऑक्सीजनकीमात्रादीजातीहै,औरकार्बनडाइऑक्साइडकोफेफड़ोंसेबाहरनिकालाजाताहै

यह प्रक्रिया सामान्य सांस लेने की प्रक्रिया के साथ ही होती है और रोगी मशीन के साथ आराम से सोता है | मशीन के उपयोग करने पर मरीज के फेफड़ों को आराम मिलता है और और उसकी थकान कम हो जाती है |

फेफड़ेकीअवरोधकबीमारी(限制性肺病):

यहएकदीर्घकालीनफेफड़ेकीऐसीबीमारीहै,जिसमेसांसलेनेकेदौरानफेफड़ेपूरीतरहसेफ़ैलनहींपातेहैइसकेपरिणामस्वरूपहवाऔरऑक्सीजनकीपर्याप्तमात्राफेफड़ेमेंनहींपहुंचपातीहै।ऐसीबीमारीमेंनिरंतरऑक्सीजनकीकमीरहती,औरइसकमीकोपूराकरनेकेलिए,रोगीतेजीसेसांसलेताहै।

ज्यादातरRLDमें समय के साथ साथ रोगी की हालत खराब होती जाती है ।

सामान्यतयाबीमारीदोप्रकारकीहोतीहै:

(1)आंतरिककार्यसेहोनेवालीफेफड़ेकीअवरोधकबीमारीयहज्यादातरआंतरिकसूजनऔरजकड़नकीवजहसेहोतीहै।

इसके अंतर्गत आने वाले प्रमुख बीमारी हैं -

  • निमोनिया
  • ट्यूबरक्लोसिस
  • सारकोटोसिस
  • फाइब्रोसिस
  • फेफड़ेकाकैंसर
  • फेफड़ेकाअर्थराइटिस...इत्यादि।

(2)बाहरीकारणोंसेहोनेवालीफेफड़ेकीअवरोधकबीमारीयह ज्यादातर फेफड़े के ऊतकों और अंगों के विकार से होता है, जिसमें प्रमुख हैंमस्तिष्क का सांस के मांसपेशियों पर कम नियंत्रण। ज्यादातर बीमारियों में फेफड़े के ऊतकों का कमजोर होना और सीने का जकड़न प्रमुख है।

इसकीप्रमुखबीमारियांहैं

  • ऊतकों और फेफड़ों बीच में पानी आना
  • कुबडापन
  • फेफड़े और मांसपेशियों का कमजोर होना
  • मोटापे की वजह से डाईफार्म का कम काम करना
  • सीने की हड्डी का टूटना...इत्यादि

ऑक्सीजनथेरेपी:

समानत:हमारेशरीरमेंऑक्सीजनकीमात्राकोपूराकरनेकाकामफेफड़ोंकाहोताहै|

ऑक्सीजनहमारेशरीरमेंरक्तकेद्वारापहुंचाईजातीहै,सांसकेद्वाराऑक्सीजनफेफड़ेकीबहुतसारीवायुथैलियोंमेंपहुंचतीहै,वहांसेयहरक्तधमनियोंकेद्वाराहॉटतकपहुंचतीहै|हॉटइसेशरीरकेविभिन्नअंगोंतकपंपकरताहै|

सीओपीडीमेंफेफड़ेकीरचनाएंक्षतिग्रस्तहोजातीहै,औरफेफड़ाहवासेपर्याप्तमात्रामेंऑक्सीजनलेनेमेंसक्षमनहींहोतेहैं|

ऑक्सीजन थेरेपी फेफड़े में अतिरिक्त आंक्सीजन पहुंचता हैंताकि सही मात्रा में शरीर को ऑक्सीजन मिलती रहे और हमें सांस लेने में आसानी हो | ऑक्सीजन थेरेपी की आवश्यकता का पता लगाने के लिए डॉक्टर आपके रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को मापने के लिए धमनी रक्त गैस परीक्षण(ABG)करवाताहै|

ऑक्सीजन थेरेपी और इसके साथ- - - - - -साथ बायलेवल का प्रयोगसीओपीडी को ठीक नहीं करता, उसे नियंत्रित करता है |

Baidu